बजट सत्र में महिलाओं ने थामी विधानसभा की कमान:अध्यक्ष की आसंदी पर बैठीं कांग्रेस विधायक झूमा सोलंकी, सदन की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी महिला मार्शल को सौंपी गई

महिला दिवस पर अध्यक्ष गिरीश गाैतम ने आज विधानसभा की कार्यवाही संचालन हेतु सदस्य झूमा सोलंकी को सभापति के रूप मे आसंदी पर बिठाया।
 

विधानसभा अध्यक्ष बोले- सदन को महिलाओं पर गर्व है

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर मध्यप्रदेश विधानसभा की कमान महिलाओं को सौंपी गई है। विधानसभा में ऐसा पहली बार हुआ जब आसंदी पर महिला विधायक बैठीं और प्रश्नकाल की कार्यवाही हुई। विधानसभा में आज सदन की कार्रवाई से लेकर सुरक्षा का जिम्मा भी महिलाओं के हाथ में दिया गया। गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि महिला सशक्तिकरण का अनुपम उदाहरण विधानसभा में आज पेश हुआ।

अमूमन विधानसभा में सुरक्षाकर्मी पुरुष रहते हैं, लेकिन आज मार्शल की भूमिका भी महिला सुरक्षाकर्मियों को सौंपी गई। महिला दिवस के मौके पर विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने महिला मार्शल के साथ सदन में प्रवेश किया। अध्यक्ष का दंड लेकर सदन में महिला मार्शल पहुंची।

अध्यक्ष ने आसंदी पर बैठते ही महिला दिवस की शुभकामनाएं दी और कहा कि आज विधानसभा की कार्यवाही का संचालन महिला विधायक करेंगी। अध्यक्ष ने कांग्रेस विधायक एवं सभापति झूमा सोलंकी को आसंदी पर आमंत्रित किया। इसके बाद विधानसभा में प्रश्नकाल की प्रक्रिया शुरू हुई।

सदन में संसदीय मंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले कि आज महिला सशक्तिकरण का अनुपम उदाहरण पेश हुआ। महिला दिवस के मौके पर धर्म स्वातंत्र्य विधेयक चर्चा के लिए रखा, उसके लिए धन्यवाद। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा शब्दों के जादूगर हैं नरोत्तम मिश्रा।

पीसी शर्मा ने कहा रसोई गैस महंगी हो गई। इस पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा आज कम से कम महिलाओं के हाथों में बेलन नहीं देते, आज पूजन करना चाहिए था। नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा पाश्चात्य सभ्यता की महिला जिस पार्टी की अध्यक्ष होंगी वहां ऐसे ही विचार होंगे। अध्यक्ष ने सदन की सभी महिला सदस्यों का नाम लेते हुए कहा कि सदन को महिलाओं पर गर्व है।