जम्मू । जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन जेकेसीए धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष फारूख अब्दुल्ला ने बुधवार को जोर देते हुए कहा कि वह किसी के आगे नहीं झुकेंगे। जिला विकास परिषद चुनाव परिणामों की घोषणा के एक दिन बाद उन्होंने नेकां मुख्यालय नवा-ए-सुबह में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सोचती है कि वह उसके आगे झुक जाएंगे, लेकिन वह नहीं झुकेंगे। अब्दुल्ला ने कहा, कि मैं सिर्फ अपने अल्लाह के आगे अपना सिर झुकाउंगा, किसी और के आगे नहीं। वह (अल्लाह) मेरे सृजनकर्ता हैं। वे लोग मुझे डराने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे फारूख अब्दुल्ला को जानते नहीं हैं। मैं शेर-ए-कश्मीर (नेकां के संस्थापक शेख मोहम्मद अब्दुल्ला) का बेटा हूं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जेकेसीए मामले में शनिवार को अब्दुल्ला की 11.86 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की थी। जांच एजेंसी ने कहा था कि धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत की गई जांच के बाद यह पाया गया कि 2005-06 और 2012 के बीच जेकेसीए ने बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इन इंडिया (बीसीसीआई) से 109.78 करोड़ रुपए प्राप्त किए थे। दूसरी ओर, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर अपने परिवार और मित्रों को जांच के नाम पर आतंकित करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा को राजनीतिक तरीके से लड़ना चाहिए और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। मुफ्ती ने बुधवार को कहा, "मैं नई दिल्ली में बैठ कर सरकार चला रहे लोगों को कहना चाहती हूं कि मुझसे राजनीतिक तरीके से लड़ें। भाजपा मुझसे राजनीतिक रूप से नहीं लड़ रही है। भाजपा के पास इतने मंत्री, सांसद और सरकारें हैं, उन्हें मुझसे राजनीतिक रूप से लड़ना चाहिए।