MP में महिलाओं को क्या-क्या रियायतें:DL के लिए कोई शुल्क नहीं, रजिस्ट्री में स्टाम्प ड्यूटी के लिए मात्र 1100 रुपए फीस; और कहां पर क्या छूट...
 


सरकार महिलाओं को पुरुषों के समान खड़ा करने के उद्देश्य से कई योजनाएं चला रही है। थोड़ा जागरुक रहकर आप भी इनका लाभ उठा सकती हैं। कई महिलाएं इनका लाभ उठा भी रही हैं, इसलिए हमें जानना चाहिए कि सरकार महिलाओं को क्या-क्या छूट और रियायतें प्रदान करती है। मसलन, मुफ्त ड्राइविंग लाइसेंस, नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में 50% आरक्षण और नौकरी में 33% रिजर्वेशन जैसी कई योजनाएं हैं। इसी पर पेश है

महिलाओं को क्या-क्या सुविधाएं

मुफ्त ड्राइविंग लाइसेंस

6 महीने का वैतनिक मातृत्व अवकाश
नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण
निकाय चुनाव में 50 फीसदी आरक्षण
नगर निगम और पंचायत चुनाव में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित कर दी गई हैं। इन आरक्षित सीटों पर महिलाएं ही चुनाव लड़ सकती हैं।

MP की साइबर एक्सपर्ट DSP सृष्टि भार्गव: MPPSC में डिप्टी कलेक्टर की बजाय DSP की पोस्ट चुनी क्योंकि लीक से हटकर इन्वेस्टीगेशन जैसा चैलेंजिंग काम करना चाहती थी

महिला को सह-मालिक बनाने पर स्टाम्प ड्यूटी में छूट

महिला को प्रॉपर्टी खरीदने में कोई छूट नहीं है। पर, यदि कोई व्यक्ति अपनी पत्नी या बेटी को सह-मालिक बनाता है तो स्टाम्प ड्यूटी 1 हजार रुपए और 100 रुपए रजिस्ट्रेशन फीस ही चुकानी होगी। वहीं, बहू को सह-मालिक बनाने पर 1 प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी के साथ अन्य खर्च नियमानुसार ही रहेगा। जबकि बेटे को सह-मालिक बनाने पर प्रॉपर्टी के संबंधित हिस्से की मार्केट वैल्यू की 12.50 प्रतिशत राशि स्टाम्प ड्यूटी, रजिस्ट्रेशन समेत अन्य फीस जमा करनी होगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना में महिलाओं के नाम पर ही रजिस्ट्री हो रही है। यदि महिला के नाम कोई जमीन नहीं है, तो उसमें महिला का नाम शामिल करना अनिवार्य है।

लड़कियों को प्रोत्साहन राशि

लड़कियों को 6वीं, 10वीं और 11वीं में प्रवेश लेने और आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए कन्या साक्षरता राशि प्रदान की जाती है। गांव की बेटी योजना में भी 12वीं में 60% अंक लाने पर प्रतिमाह 500 रुपए की राशि 10 माह तक उपलब्ध कराई जाती है।

कारोबार

सरकार ने स्कूल के बच्चों की ड्रेस सिलने का काम स्व-सहायता समूह को दिया है। मध्यप्रदेश में 3 लाख 18 हजार स्व-सहायता समूह हैं।

विवाह के लिए 28 हजार रुपए

राज्य सरकार जरूरतमंद कन्याओं को मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना के तहत 28 हजार रुपए की राशि उपलब्ध कराती है।

गर्भवती को 6 हजार रुपए की मदद

जननी सुरक्षा योजना के तहत ग्रामीण इलाके की गर्भवती महिलाओं को 1400 रुपए और शहरी क्षेत्र की महिलाओं को एक हजार रुपए दिए जाते हैं, जबकि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत उन्हें पांच हजार रुपए और मिलते हैं।

लाडली लक्ष्मी योजना में 1 लाख 18 हजार रुपए

बच्चियों को 1 लाख 18 हजार रुपए की राशि दी जाती है। इसके लिए योजना में रजिस्ट्रेशन के समय से सरकार पांच साल तक 6-6 हजार रुपए प्रतिवर्ष जमा करती है। बालिका के 6वीं कक्षा में जाने पर 2 हजार, 9वीं में जाने पर 4 हजार, 11वीं में 6 हजार रुपए, 12वीं में प्रवेश लेने पर 6 हजार रुपए ई-पेमेंट के माध्यम से जमा किया जाता है। अंतिम भुगतान 1 लाख रुपए बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर या 12वीं की परीक्षा में शामिल होने पर भुगतान का नियम है।