कोरबा| बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण पूरे जिले में लागू लॉकडाउन का फायदा उठाकर कुछ लोगों ने हरे-भरे पेड़ों की कटाई कर डाली। इसकी खबर होते ही वन अमले ने त्वरित कार्यवाही कर 65 नग बल्लियां बरामद कर ली है। इस कार्यवाही से अवैध कटाई करने वालों में हड़कंप मची है। जानकारी के अनुसार कटघोरा वन मण्डल के जटगा वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम सुतर्रा के वनरक्षक के कोरोना संक्रमित हो जाने से वह होम आईसोलेशन में हैं और ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। ऊपर से लगे लॉकडाउन का फायदा उठा कर क्षेत्र के ग्रामीणों ने पास के जंगल से 45 नग पेड़ों की अवैध कटाई कर डाली। जब इसकी जानकारी ग्राम सुतर्रा वन प्रबंधन समिति के अध्यक्ष लक्ष्मण डिक्सेना को हुई तो उच्च अधिकारियों को अवगत कराया। जटगा रेंजर सत्तू जायसवाल व उड़नदस्ता प्रभारी प्रतिमा पैकरा द्वारा वन अधिकारियों की टीम बनाकर कटघोरा थाना प्रभारी अविनाश सिंह को सूचित कर प्रधान आरक्षक संदीप पाण्डेय, आरक्षक शिव शंकर परिहार का सहयोग लेकर सुतर्रा में जाकर छापामार कार्यवाही की गई। वन विभाग की इस कार्यवाही से सुतर्रा के ग्रामीणों में हड़कंप मच गई। कार्यवाही की चेतावनी पर अनेक लोगों ने स्वयं सामने आकर काटी गई लकड़ियों को वन विभाग को सौंपा। वन अधिकारियों ने बताया कि सुतर्रा के जंगल से 45 पेड़ों को काटा गया था और ग्रामीणों से कटे पेड़ों के 65 बल्ली लकड़ी बरामद किया गया है। जप्त बल्लियों को कसनिया डिपो के सुपुर्द कर दिया गया है।