नई दिल्ली । एलपीजी सिलेंडर की बुकिंग को लेकर पिछले साल 1 नवंबर 2020 से कुछ बदलाव हुए थे, जिसमें गैस सिलेंडर की बुकिंग को ओटीपी बेस्ड किया गया था, जिससे बुकिंग सिस्टम ज्यादा सुरक्षित और बेहतर हो सके। अब एक बार फिर एलपीजी बुकिंग और डिलीवरी सिस्टम को ज्यादा आसान बनाने की तैयारी हो रही है। सरकार और तेल कंपनियां इस बात पर विचार कर रही हैं कि कंज्यूमर के लिए एलपीजी गैस बुकिंग और रीफिल की पूरी प्रक्रिया को आसान और तेज किया जाए। जानकारी के अनुसार पिछले साल जब एलपीजी के नए नियमों पर चर्चा हो रही थी, तब इस बात पर भी विचार किया गया कि एलपीजी रीफिल के लिए ग्राहक सिर्फ अपनी ही गैस एजेंसी पर निर्भर न रहे। उसके करीब जो भी दूसरी गैस एजेंसी हो, उससे वो अपना एलपीजी सिलेंडर रीफिल करवा ले। सरकार और तेल कंपनियां इसके लिए एक इंटीग्रेटेड प्लेटफॉर्म तैयार करेंगी।