भोपाल में सुसाइड की कोशिश लाइव:VIP रोड पर गोताखोरों ने वीडियो बनाया; उनके सामने ही 12वीं की छात्रा दूसरे छोर से पानी में कूद गई

पानी से बाहर आने के बाद छात्रा ने कहा कि उस पर माता-पिता का पढ़ाई काे लेकर कोई दबाव नहीं है।
बाहर निकाला तो छात्रा हाथ जोड़कर बोली- मैं पढ़ाई के मानसिक तनाव में हूं
रोते हुए बोली- पढ़ने में अच्छी थी, लेकिन मैं अच्छे से नहीं लिख पाई

भोपाल में 12वीं की एक छात्रा को VIP रोड से बड़े तालाब में छलांग लगाकर खुदकुशी की कोशिश करने का लाइव वीडियो सामने आया है। तालाब के दूसरे किनारे पर बैठे गोताखोर जब तक समझ पाते लड़की ने छलांग लगा दी।

वीडियो में लड़की कुछ देर तक रेलिंग के पास खड़ी नजर आती है। उसके बाद वह तालाब में कूद जाती है। नगर निगम के गोताखोर मौके पर पहुंचकर तत्काल छात्रा को बचा लेते हैं। पानी से बाहर आने के बाद छात्रा हाथ जोड़कर कहती है कि वह पढ़ाई के तनाव में है। इसलिए ऐसा कदम उठाया।

जैसे लड़की ने पानी से बाहर आने के बाद कहा...

सिर्फ माता-पिता की इज्जत की वजह से तालाब में कूदी हूं। उनकी तरफ से पढ़ाई का कोई प्रेशर नहीं है, लेकिन वे क्या सोचेंगे कि उनकी बेटी पढ़ाई में पीछे रह गई। भैया प्लीज... मैं अच्छी लिखती थी। कल टेस्ट में पता नहीं क्या हो गया था। वह कक्षा 12वीं में पढ़ती है। उसने कहा कि वह अब ऐसा दोबारा नहीं करेगी।

लाइव मौत की छलांग लगाते देखा

गोताखोर VIP रोड पर तालाब के दूसरे ओर बोट पर तैनात थे। इसी दौरान उन्हें VIP रोड से एक लड़की रेलिंग के पास खड़ी नजर आई। उन्हें अशंका थी कि लड़की छलांग लगा देगी। इसलिए उन्होंने उसका वीडियो बनाना शुरू किया।

लड़की के रेलिंग पर चढ़ते ही गोताखोर चिल्लाया... जल्दी बोट चालू करो। वह रेलिंग पर चढ़ गई है। वह कूदने वाली है। जल्दी करो। बोट चालू होने के पहले ही लड़की तालाब में कूद जाती हैं, लेकिन गोताखोर भी बोट लेकर मौके पर पहुंच जाते हैं और लड़की को बचा लेते हैं।

इसी जगह उसने छलांग लगाई।

परिवार को बुलाया थाना

तलैया पुलिस लड़की को अपने साथ थाने ले गई। यहां परिवार वालों को बुलाया गया है। लड़की ने बताया कि उस पर कोई तनाव नहीं है। बस वह पढ़ाई ठीक से नहीं होने के कारण माता-पिता की इज्जत खराब नहीं होना देना चाहती थी। पुलिस ने बताया कि परिवार वालों को बुलाया गया है। उनके आते ही लड़की को उनके हवाले कर दिया जाएगा। लड़की और उसके माता-पिता की काउंसलिंग करवाई जाएगी, ताकि लड़की की मानसिक स्थिति को स्थिर किया जाएगा।