भोपाल, शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को चौथी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। रात में शपथ लेने के बाद वह सीधे बल्लभ भवन (मंत्रालय) गए और वहां पूजा पाठ करने के बाद सोमवार देर रात राज्य के आला अधिकारियों से कोरोना वायरस की महामारी से निपटने को लेकर आपात बैठक की। कोरोना वायरस से मध्य प्रदेश में अब तक सात लोग संक्रमित हुए हैं। शपथ लेने के बाद चौहान ने कोरोना वायरस को सबसे बड़ी चुनौती बताया था।
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने विधानसभा की तीन दिन के लिए बैठक मंगलवार से बुलाने का फैसला किया। इस बारे में विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने बताया कि वह मंगलवार को विश्वास मत हासिल करने का प्रस्ताव रखने वाले हैं।
शपथ के बाद उन्होंने कहा था, 'मैं आप सबको हाथ जोड़कर प्रणाम करता हूं। आपकी भावना के फूल मेरा उत्साह बढ़ाते हैं, मेरी ऊर्जा बढ़ाते हैं।' चौहान ने कहा, 'जनता के प्रेम के प्रति आभार प्रकट करता हूं। मेरे केंद्रीय नेतृत्व के प्रति आभार प्रकट करता हूं कि उन्होंने फिर से मुझ पर भरोसा किया है।'
उन्होंन कहा, 'मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी, गृह मंत्री अमित शाह जी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा जी, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सह्रत्रबुद्धे, राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह एवं भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का आभारी हूं।'