हिसार । हिसार के एक गांव में एक नाबालिग लड़की की संदिग्ध परिस्तिथियों में मौत हो गई। इसकी सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और दाह संस्कार रुकवा दिया। दरअसल, पुलिस को किसी ने सूचना दी कि नाबालिग की हत्या की गई है। पुलिस इस गुप्त सूचना पर नाबालिग के घर पहुंची। लेकिन मृतका को दाह संस्कार के लिए गांव के श्मशान घाट में ले जाया जा चुका था। पुलिस श्मशान पहुंची तो वहां मृतका का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। पुलिस ने अंतिम संस्कार रुकवा कर शव को तुरंत शहर के सिविल अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस भिजवाया। जहां शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव स्वजनों को सौंप दिया। 
दरअसल, मृतका ने सितंबर 2020 में गांव के तीन युवकों पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया गया था। इन तीन युवकों में से दो युवक सगे भाई हैं और इनमें से एक युवक बालसमंद में होमगार्ड है। वहीं तीसरा 10वीं का छात्र है। पुलिस ने बताया कि मेडिकल रिपोर्ट में डीएनए का मिलान नहीं होने पर ये केस मंगलवार को खारिज हो गया। सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मंदीप ने बताया कि मृतका के मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। विसरा जांच के लिए भेज दिया गया है। मृतका के पिता के बयान पर इत्तफाकिया कार्रवाई की गई है। करीब  तीन घंटे तक ग्रामीण और पुलिस श्मशान भूमि में रहे। फिर पुलिस नाबालिग लड़की के शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल में ले आई। पोस्टमार्टम के सैंपल विसरा जांच के लिए भेज दिए गए हैं। फिलहाल पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।