भोपाल. मध्य प्रदेश की तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने भारतीय शिक्षण मंडल और विश्वविद्यालयों के कुलपतियों से अपील की है कि वो कम से कम एक सरकारी ITI को गोद लें. इससे ITI की गुणवत्ता में सुधार हो सकेगा. राजधानी में भारतीय शिक्षण मंडल की ओर से आयोजित सार्थक एडु विज़न 2021 के समापन समारोह में यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि हमने अपने ITI के असेसमेंट का प्लान बनाया था लेकिन 6 महीने में भी ये असेसमेंट पूरा नहीं हो पाया. हो सकता है अगले 6 महीने में भी ये न हो पाए. उसके बाद वो मंत्री रहें या न रहें इसका भी कोई ठिकाना नहीं है. ऐसे में ये जरूरी है कि भारतीय शिक्षण मंडल प्रदेश की ITI को गोद ले क्योंकि शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान महत्वपूर्ण है और वो भविष्य की योजना के तहत काम कर रहे हैं.

क्या था आयोजन ?
भारतीय शिक्षण मंडल की ओर से राजधानी भोपाल में 3 दिन के सार्थक एडु विज़न 2021 का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री शिवराज शिवराज सिंह चौहान ने किया था. इस कार्यक्रम में 100 से ज्यादा विश्वविद्यालयों के कुलपति और जाने-माने शिक्षाविद भी शामिल हुए थे. 3 दिन तक चले इस आयोजन में नई शिक्षा नीति से लेकर शिक्षा में भारतीय संस्कृति के साथ आगे कैसे बढ़ा जाए इस विषय पर मंथन किया गया.

संकल्प हुए पारित
तीन दिन तक चले कार्यक्रम में कई संकल्प पारित किए गए. इसके तहत शिक्षा के सार्थक दर्शन को साकार करने के लिए समग्र एकात्म तथा व्यवहारिक उपायों का अन्वेषण किया जाना और संसाधनों के समुचित प्रयोग समायोजन और सृजनात्मक संकलन द्वारा आत्मनिर्भर भारत के लिए  आत्मनिर्भर प्रदेश महानगर नगर ग्राम बनाने के लिए स्वाबलंबी शैक्षिक संस्थान का आदर्श पेश किया जाएगा.  गुरुकुल शिक्षा पद्धति के वैज्ञानिक तत्वों को वर्तमान शिक्षा में समाहित करने के लिए अनुसंधान अध्ययन और लेखन किया जाएगा. शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी हैं इस दृष्टि से मूल्यों पर आधारित शिक्षा को शिक्षा में समाहित करेंगे.