नई दिल्ली. दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को बढ़ावा देने के लिए आवासीय कॉलोनियों में EV Charging Stations लगाने की योजना बना रही है. दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा- स्विच दिल्ली अभियान के तहत शहर में आवासीय कॉलोनियों में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग स्टेशन बनाने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि, कॉलोनियों में चार्जिंग स्टेशन होने से लोगों को अपने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स चार्ज करने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा. आइए जानते है आवासीय कॉलोनियों में EV Charging Stations स्थापित होने से आपको कितना होगा फायदा DERC ने चार्जिंग रेट घटाएं - गहलोत ने बताया कि दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलारिटी कमीशन ने पहले ही प्रदेश में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के चार्जिंग की रेट करम कर दिए है. जिससे लोगों को EV व्हीकल्स चार्ज करने में अब कम खर्च करना होगा.
EV Charging के लिए देने होंगे इतने रुपये - DERC के नए रेट्स के अनुसार यदि आप घर पर अपने व्हीकल को चार्ज करते है तो आपको प्रति किलोवाट 4.5 रुपये देने होंगे. जो कि पहले 5.5 रुपये हुआ करते थे. वहीं चार्जिंग स्टेशन पर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को चार्ज करने के लिए प्रति किलोवाट 4 रुपये का भुगतान करना होगा. जो कि पहले 5 रुपये हुआ करता था.
100 नए चार्जिंग स्टेशन जल्द होंगे चालू - कैलाश गहलोत ने बताया कि इस समय दिल्ली में 72 से अधिक चार्जिंग स्टेशन है. वहीं अगले 6 महीने में 100 नए चार्जिंग स्टेशन तैयार कर दिए जाएंगे. गहलोत ने कहा- हम शहर भर के सभी संभावित क्षेत्रों में साउंड चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर सिस्टम सुनिश्चित करके इलेक्ट्रिक-रन वाले वाहनों को अपनाने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं. लोगों को ईवी नीति अपनाने और सभी आवासीय क्षेत्रों में चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए सबसे कम टैरिफ प्रदान कर रही है.