पटना । ‎ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की पहली बैठक में कई अहम फैसले ‎लिए गए हैं। राज्य मं‎त्रिमंडल ने ‎प्रदेश में को‎विड-19 टीका उपलब्ध हो जाने के बाद सभी लोगों को मुफ्त में देने का निर्णय लिया है। इसके अलावा 20 लाख युवाओं को रोजगार देने का फैसला ‎किया गया है। बिहार कैबिनेट मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि मंगलवार को आत्मनिर्भर बिहार और सात निश्चय 2 को बिहार कैबिनेट ने यह अप्रूव किया है। आने वाले 5 वर्षों में किस तरह से इस प्रदेश के नौजवानों को 20 लाख नौकरी मिले उसके लिए दिशानिर्देश देने का काम भी माननीय मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में हमने किया है। बता दें ‎कि पिछले महीने मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा किया गया था। मंत्रिमंडल ने "सात निश्चय पार्ट-2" के क्रियान्वयन को भी मंजूरी दी। यह मुख्यमंत्री के सात निश्चयों का दूसरा हिस्सा है जो शासन पर उनके ब्लूप्रिंट की छाप है। पिछले कार्यकाल में पूरे हुए कार्यों के बाद अब यह अगली कड़ी है। मुफ्त कोरोना टीका सात निश्चय के कई अहम अवयवों में एक "सबके लिए स्वास्थ्य सुविधा" के तहत होगा। दरअसल, हाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने भी अपने घोषणापत्र में मुफ्त कोरोना वायरस टीके का वादा किया था। भाजपा राज्य में सत्तारूढ़ राजग का घटक है।