बीजिंग । टिकटॉक से पूरी दुनिया में कौन वाकिफ नहीं है। भारत में जरूर इस एप पर पाबंदी लगा दी गई हो, लेकिन दुनिया भर में इसके करोड़ों यूजर हैं। खबर है कि टिकटाक बनाने वाली कंपनी बाइटडांस चीन के लिए एक नया एप बनाने जा रही है। हालांकि अभी योजना का शुरुआती चरण है और जल्द ही इसको लेकर और जानकारी सामने आएगी। अमेरिका की आडियो चैट सेवा क्लबहाउस की तर्ज पर बाइटडांस नया एप बना रहा है। हाल ही में चीन ने क्लब हाउस पर पाबंदी लगा दी थी जिसके बाद बाइट डांस ने चीन के लिए क्लब हाउस जैसी ही नई ऐप बनाने का फैसला किया है। इस खबर के बाद तकनीक की दुनिया में एक नई हलचल है। हालांकि यह बात पूरी दुनिया जानती है कि चीन में लोकतंत्र के मायने क्या हैं और नई ऐप को कितने अधिकार दिए जाएंगे। अमेरिका की आडियो चैट सेवा क्लब हाउस बहुत लोकप्रिय है। 
क्लब हाउस के एक चैट रूम में 8,000 से ज्यादा लोग शिरकत कर सकते हैं। दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क और रॉबिनहुड के सीईओ व्लाद टेनेव बूस्ट भी इसका इस्तेमाल करते हैं। दुनिया की मशहूर हस्तियों के इस्तेमाल की वजह से क्लबहाउस के यूजर दिन दूने-रात चौगुने बढ़ रहे हैं। पिछले दिनों हांगकांग इन्डिपेंडेंस और शिनजियांग शिविर जैसे अहम मुद्दों पर भी क्लबहाउस के जरिए चर्चा की गई थी।
चीन में खुलेआम राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा करना गैरकानूनी है। इसी वजह से चीन में क्लबहाउस पर पाबंदी लगाई गई है। एक और उदाहरण नास्डैक में लिस्टेड लिझी इनकारपोरेटेड का जिया एप है, जिसे 2018 में लॉन्च किया गया था। इस एप पर यूजर गाना गाते हैं और वीडियो गेम के बारे में बात करते हैं। लिझी के सीईओ मार्को लाई का कहना है कि चीन में ऑडियो लाइवस्ट्रीमिंग कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों की हर हरकत पर नजर रखी जाती है। खास तौर पर अश्लील सामग्री या राजनीतिक रूप से संवेदनशील मुद्दों पर चर्चा जैसे कंटेंट को हटा दिया जाता है।